STOCK BROKER -TRADING ACCOUNT

 

trading account, stock broker


TRADING ACCOUNT का इस्तेमाल stock market में stock को खरीदने केके लिए लेन-देन और शेयर खरीदने तथा बेचने के लिए STOCK BROKER को आर्डर देने के लिए किया जाता है.

TRADING ACCOUNT हमारे DEMAT ACCOUNT के साथ LINK कर दिया जाता है, और जब TRADING ACCOUNT की मदद से जब हम शेयर खरीदने का आर्डर stock market को देते है, और हमारा आर्डर पुरा हो जाता है तो ख़रीदे गए शेयर हमारे DEMAT ACCOUNT में जमा हो जाता है, और जितने मूल्य के साथ और टैक्स तथा brokrage charge के साथ हमारा ट्रेडिंग अकाउंट से पैसा कट जाता है. और इसी तरह जब हम शेयर बेचते है तो बेचे गए शेयर को DEMAT निकाल दिए जाते है, और बेचे गए शेयर का अमाउंट हमारे ट्रेडिंग अकाउंट में brokrage तथा tax काटने के बा जमा हो जाता है. 

. Must Read- STOCK MARKET CHARGES

इस तरह ट्रेडिंग अकाउंट सिर्फ ट्रेडिंग करने के लिए होता है, जहाँ पर हमारे शेयर्स खरीदने और बेचने के ऑर्डर्स और पैसे के डेबिट और क्रेडिट का रिकॉर्ड रहता है.

STOCK BROKER AND TRADING ACCOUNT

हम सीधे तौर पर stock market को कोई भी शेयर खरीदने और बेचने का ऑर्डर नही दे सकते है, हमारा स्टॉक ब्रोकर हमारे शेयर्स को खरीदने और बेचने का आर्डर स्टॉक मार्केट तक पहुँचता है। और इसलिए स्टॉक ब्रोकर हमारे BUY और SELL के ORDERS को स्टॉक मार्केट तक पहुचाने एक जो एकाउंट खोलता है उसे ट्रेडिंग एकाउंट कहते है।

आज सभी स्टॉक ब्रोकर कंपनी ट्रेडिंग एकाउंट खोलने के साथ हमे एक TRADING PORTAL/MOBILE APP, TRADING TERMINAL SOFTWARE अपने WEBSITE पर LOGIN करने के लिए USER ID और PASSWARD देती है।

और अपने USER ID जिसका इस्तेमाल करके हम stock ब्रोकर के पास LOG IN करके अगर stock ब्रोकर कोई बैंक नही है तो पहले हमे अपने ट्रेडिंग अकाउंट में पैसे जमा करने होते है.

और फिर हम जो भी शेयर्स खरीदते या बेचते है, उस शेयर्स को सेलेक्ट करके अपनी इच्छानुसार  मात्रा और मूल्य डालने के साथ आर्डर कर सकते है.

फिर हमारा स्टॉक ब्रोकर हमारे लिए उतने ही शेयर्स का आर्डर stock market  में पहुचता है, और stock market में जैसे हमारा आर्डर किसी शेयर्स आर्डर से मैच हो जाता है, तो हमें वो शेयर्स हमें प्राप्त जाते है.

TRADING ACCOUNT के फायदे 

शेयर्स को TRADING ACCOUNT में रखना चाहिए.

. शेयर्स खरीदना और बेचना बिलकुल आसान हो जाना,

. शेयर्स खरीदने के लिए पैसो का लेन देन आसानी से हो जाना,

मार्जिन मनी की सुविधा 

. जीरो पेपर वर्क - लिखित आर्डर की कोई जरुरत नही,

. online ट्रेडिंग अकाउंट हो जाने से brokrage charge पहले के मुकाबले बहुत ही कम हो जाना,

. शेयर्स का AUTOMATICALLY डेबिट और क्रेडिट हो जाना,

NOTEINDIA.ONLINE

Post a Comment

Previous Post Next Post